ये आठ हैं हजारों सालों से जीवित, इन्हें कभी मौत नहीं आएगी

alive proof and story of The Astchiranjivi: Hanuman, Ashwathama, Parshuram, Kripacharya, King Baliसामान्यत: लोगों और वैज्ञानिक नजरिए में कहा जाता है कि धरती पर जन्मे प्राणी की एक न एक दिन मृत्यु निश्चित है। सभी महजबों के ग्रंथों और मान्यताओं में भी बताया गया है कि जिस व्यक्ति ने जन्म लिया है, उसकी मृत्यु अवश्य होगी। भगवान श्रीकृष्ण ने भगवद् गीता में भी अर्जुन को यही ज्ञान दिया था कि सिर्फ आत्मा अमर है और यह निश्चित समय के लिए अलग-अलग शरीर धारण करती है। शरीर नश्वर है, लेकिन शास्त्रों में आठ ऐसे लोग भी बताए गए हैं, जिन्होंने जन्म लिया है और वे हजारों सालों से देह धारण किए हुए हैं यानी वे अभी भी सशरीर जीवित हैं।

》जीवन दर्शन Desk: महाभारत काल के एक वीर अश्वत्थामा अभी तक जीवित हैं। द्वापर युग में श्रीकृष्ण ने उन्हें चिरकाल तक पृथ्वी पर भटकते रहने का श्राप दिया था। कहा जाता है कि वे अब कलयुग में भी (धरती पर) शशरीर हैं और कुछ जगहों पर देखे जाने की चर्चा भी हुर्इ हैं। इनके अलावा भी 7 और लोग ऐसे हैं, जिनके प्राण यमराज अब तक नहीं हर पाए। प्राचीन मान्यताओं के आधार पर यदि कोई व्यक्ति हर रोज इन आठ अमर लोगों (अष्ट चिरंजीवी) के नाम भी लेता है तो उसकी उम्र लंबी होती है।

1. हनुमान जी – कलियुग में हनुमानजी सबसे जल्दी प्रसन्न होने वाले देवता माने गए हैं और हनुमानजी भी इन अष्ट चिरंजीवियों में से एक हैं। मां सीता ने हनुमान को लंका की अशोक वाटिका में राम का संदेश सुनने के बाद आशीर्वाद दिया था कि वे अजर-अमर रहेंगे। अजर-अमर का अर्थ है कि जिसे ना कभी मौत आएगी और ना ही कभी बुढ़ापा। इस कारण भगवान हनुमान को हमेशा शक्ति का स्रोत माना गया है क्योंकि वे चीरयुवा हैं।

यह भी पढें: हनुमान चालीसा, बजरंग बाण और सिद्धियां देखने के लिए यहां क्लिक करें
बजरंग बली के 10 मंदिर जो हैं भारत में बडे़ प्रसिद्घ, आते हैं हजारों भक्त
ये हैं हनुमान जी के अजब-अनोखे मंदिर, आर्किटेक्चर अलग और अलग ही मान्यताएं

भगवान हनुमान के विषय में तो आप जानते ही हैं, लेकिन शेष और कौन-कौन चिरंजीवी हैं, उनके नाम और संक्षिप्त परिचय देखने के लिए छुएं फोटोज़, अंदर पढें स्लाइड्स में….

Advertisements
Categories: 》जीवन दर्शन | Tags: | Leave a comment

Post navigation

Call or paste your point here.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: