यहां छुपकर डाल पर बैठ गए थे शनि, आप घास का तिनका बांधे और करें परिक्रमा

शनि शांति का अचूक स्थान 》जीवन दर्शन Desk: शनिदेव सूर्य के पुत्र हैं, जहां सूर्य हम सभी के जीवन का अभिन्न अंग हैं, उनके बिना कोर्इ महजब जी नहीं सकता, फिर नमाजिए कितने भी जतन क्यों न करलें। उसी प्रकार पूर्वजन्म के संस्कार और पापकर्मों पर दंण्डित प्रक्रिया साधने वाले शनि, कोर्इ एक धर्म या प्रजाति देखकर कुपित नहीं होते, बल्कि वह कर्मानुसार प्रत्येक राशि में विचरण करते हैं।

भारत में कर्इ शनि देवालय ऐसे हैं, जिन्हें उनकी आस्था में अलग नजरिए से देखा जाता है। जैसे कि कहीं वह वीर हनुमान की पूजा करने पर प्रसन्न होते हैं, तो कहीं राजा दशरथ के श्लोक बोलने से, कहीं तेल चढ़ाने की परंपरा है तो कहीं श्रीकृष्ण के स्थल में कोयल के रूप में विराजमान होने की किवदंतियां रही हैं।

Vijayrampatrika.com आज आपको इन्हीं जगहों में से एक, उस तीर्थ के दर्शन कराने जा रहा है, जहां सवा कोस की परिक्रमा देने और घास के तिनके बांधने से शनि को प्रसन्न करने की परंपरा रही है। यह वो जगह भी है, जहां शनि ने छुपकर देखी थी श्रीकृष्ण की रासलीला……….

यहां डाल पर कोयल बनकर बैठ गए थे शनि
#BRAJBHOOMI
ब्रजमंडल में ‘कोकिलावन’ भगवान् शनि की पूजा के लिए पूरे देश में जाना जाता है, अक्सर विदेशी भी बरसाना टूर के दौरान यहां आ जाते हैं। उत्तरप्रदेश में यह जगह मथुरा से 54 किलोमीटर दूर है। बरसाना, छाता और कोसीकलां टाउन यहां सबसे नजदीक हैं।
पौराणिक मान्यता है कि जब भगवान श्रीकृष्ण ब्रज में गोपियों के साथ यहां रास रचा रहे थे तो, देवता छुपकर देखने आते थे। इसी तरह शनिदेव भी एक रात यहां पहुंचे। भगवान् के रास के दर्शन करना बड़ा दुर्लभ था, इसलिए शनिदेव ने एक कोयल का रूप धर पेडों के झुरमुट से निगाह डालनी शुरू कर दीं। श्रीकृष्ण को शनि की उपस्थिति का पता लग गया, तो उन्होंने शनि से कहा कि वे यहां शांति बने रहें। ताकि ब्रजवासी आपके कोप से तंग न हों। शनिदेव ने प्रभु की बात मान ली और एक सिद्घ पीठ इस स्थान पर स्थापित हो गया।

शनिदेव के इस पवित्र तीर्थ पर विशेष प्रस्तुति देखने के लिए छुएं ये फोटोज़, स्लाइड़स में पढें अंदर.…….

Advertisements
Categories: 》हमारौ ब्रज | Tags: | 1 Comment

Post navigation

One thought on “यहां छुपकर डाल पर बैठ गए थे शनि, आप घास का तिनका बांधे और करें परिक्रमा

  1. शनि आपसे रूठे हैं? तो यहां आइए साल में एकबार परिक्रमा करने, होंगे शांत !
    kokilavan shani mandir photos, videos and latest news#Vijayrampatrika.com
    http://www.shanidev.co.in/famous-temples.htm
    Story of Shanidev and God Krishna: forum.spiritualindia.org/stories-from-ancient-india/surya-putra-shanidev/msg394723/?PHPSESSID=qsDjxa3SBRSAjDBSQts9T3#msg394723
    http://forum.spiritualindia.org/stories-from-ancient-india/surya-putra-shanidev/45/
    http://www.charanamrit.com/temple-wallpaper/kokilavan-shanidham-temple-wallpaper-109.html
    http://www.glitterphoto.net/

    Like

Call or paste your point here.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: