Posts Tagged With: HINDUISM

INDIA के TOP 10 मंदिर, यहां हर साल आते हैं सबसे ज्यादा श्रद्धालु

Dharm/Darshan》टॉप 10 । हिंदुस्तान के मंदिर प्राचीनता और मान्यताओं के कारण दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं। कई मंदिर ऐसे हैं, जहां सिर्फ कमाई ही नहीं, बल्कि यहां आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या भी हर साल चौकाने वाले आंकड़ों में सामने आती है। कई मंदिरों में करोड़ों का दान आता है। कहा जाता है कि ये मंदिर चैतन्य हैं, यहां जो भी कोई मुराद लेकर जाता है खाली हाथ नहीं लौटता। आज हम जिक्र कर रहे हैं ऐसे ही मंदिरों का जहां सालभर श्रद्धालुओं का हुजूम लगा रहता है और साथ ही उतना ही चढ़ावा भी आता हैं। आइए जानते हैंं भारत के दस सबसे ज्यादा माने हुए मंदिर….

1. श्री जगन्नाथ मंदिर :
पुरी का श्री जगन्नाथ मंदिर एक हिन्दू मंदिर है, जो भगवान जगन्नाथ (श्रीकृष्ण) को समर्पित है। यह भारत के उड़ीसा राज्य के तटवर्ती शहर पुरी में स्थित है। जगन्नाथ शब्द का अर्थ जगत के स्वामी होता है। इनकी नगरी ही जगन्नाथपुरी या पुरी कहलाती है।
इस मंदिर को हिन्दुओं के चार धाम में से एक गिना जाता है। यह वैष्णव सम्प्रदाय का मंदिर है। पुरी जगन्नाथ मंदिर भारत के दस अमीर मंदिरों में से एक है। इस मंदिर के लिए जो भी दान आता है। वह मंदिर की व्यवस्था और सामाजिक कामों में खर्च किया जाता है।

अब दिए गए फोटोज छुएं । पढें, स्लाइड़स में अंदर झांकें इंडिया के फेमस 9 अन्य मंदिर …

temples

Advertisements
Categories: 》TOP 10 | Tags: , , | Leave a comment

जानिए कितना पुराना है हिंदु धर्म, क्यों नहीं हो रहा विस्तार !

Hinduism_ The world's oldest religionsहिंदुस्तान का इतिहास कितना विस्तृत है इसका प्रमाण तो हम सब विद्यार्थी जीवन में जान ही चुके हैं। लेकिन दोस्तों पुरानी सभ्यता होने के साथ-साथ यहां के बहुत कुछ खोते-पाते रहे हैं। न केवल राजा से रंक का दौर देखा बल्कि हमेशा संघर्ष करते रहे। हिंदुस्थल होते हुए भी भारत में कर्इ धर्मों का जन्‍म हुआ। दीन-ए-इलाही, बौद्ध, जैन तथा सिक्‍ख धर्म और जिनका पालन दुनिया की आबादी का 25 प्रतिशत हिस्‍सा करता है। क्या आपको पता है कि 5 हजार साल से पुराने हिंदुस्तान में हिंदु धर्म की स्थापना कब हुर्इ? यह दुनिया के अन्य देशों में क्यों नहीं फैल पाया? आज क्यों हिंदु शब्द सुनते ही राजनीतिकों के जिव्य्हा तिलमिला उठती है?

यहां जानिए इन बातों के महकते जवाब। जिस देश में पहले जिहाद, आतंक, मुजाहिदीन, फिदाइन, दंगा आदि शब्दों की जगह सोने की चिडि़या, विश्वगुरू, ‘स्‍थान मूल्‍य प्रणाली’ और ‘दशमलव प्रणाली’ के जनक की उपाधियां होती थीं से कैसे आ गए भंवर में। भारत सरकार की वेबसाइट knowindia.gov.in एवं ्www.swatantravichar.in और ्www.worldometers.info पर उपस्थित बिंदु :-

इस देश काे भारत कब से कहा जाता है इस बात का जवाब तो युगों पुरानी भरत की कहानी में मिलता है, लेकिन हिंदुस्तान नाम ???
जब कर्इ संस्कृतियां यहां पनपीं तो इस भूमि को अपने मुताबिक उन्होंने पुकारा। करीब पांच हजार बरस पूर्व सिंधु घाटी सभ्यता में घुमंतु लोगों ने यहां हडप्पा संस्कृति की स्थापना की। इसके पश्वात् फारस से आए आक्रमण कारियों ने सिंधु को हिंदु कहकर पुकारा। कहा जाता है कि हिंदुस्तान नाम सिंधु और हिंदु का संयोजन ही है। पश्चिमी सिरफिरों ने जहां सिंधु को इंडस़ नदी कहा, तो देश को इंडिया कहा जाने लगा। इससे पहले आर्यपूजकों ने भारत का नाम आर्यावर्त रख दिया था। इस तरह चार नाम हमारे देश के हुए -भारत, आर्यावर्त, हिंदुस्तान और इंडिया।

The oldest religions - Hinduismसौ साल, हजार साल, दस हजार साल पहले दुनिया में विभिन्न संस्थापकों ने इस धरती पर धर्मों को अपने नजरिए से गढा़। लेकिन इतिहास में हिंदुओं के प्रवर्तक उनकी तरह कोर्इ नहीं हैं ….

* र्इसार्इ मत की शुरूआत की- र्इसा मसीह ने, यह हुआ 2005 बरस पहले। आज के इजरायल में।
* इस्लाम मत की शुरूआत : 1430 साल पहले हजरत मोहम्मद साहब ने की। अरब में।
* जैन और बौद्ध धर्म की स्‍थापना भारत में क्रमश: 600 बी सी और 500 बी सी में हुई थी। ढार्इ-तीन हजार साल पहले।
* सिख मत की शुरूआत: हिंदुओं की रक्षा की लिए गुरू नानक देव द्वारा हुर्इ। डेढ़ हजार बरस पूर्व पंजाब में।
* पारसी, जेन, यहूदी, शिंटो, ताओ सहित दुनिया के बाकी सारे मत भी ऐसे अस्तित्व में आए।

इन सबका आदि : हिंदु मत, (जो पहले सनातन धर्म कहा जाता था।) का उत्थान सृष्टि चक्र में आज भी प्रासंगिक है। यह आज से 1,9729,49,120 वर्ष पुराना हो चुका है।
# दुनिया के दूसरे बडे़ देश चीन के राजदूत (तत्कालीन) हू शिह व नॉइंडिया गोव डॉट इन के मुताबिक हिंदुस्तान ने अपने आखिरी 1,00, 000 सालों के इतिहास में किसी भी देश पर हमला नहीं किया है। इस तरह हिंदु धर्म की बात तो बहुत पीछे की रही, जब हिंदुस्तान की सभ्यता 1,00,000 वर्ष से पहले की प्रमाणित है।
वैश्विक आंकडों में 17 दिसम्बर, 2014 शाम 5: 37 बजे तक इस धरती पर मौजूद लोग हैं : 7, 281, 668, 520

Hinduism_ The world's oldest religions* ईसार्इ (Christians) : 2,173,180,000
* मुस्लिम (Muslims) : 1,598,510,000
* बिन धर्म संबद्घ (No Religion affiliation) : 1,126,500,000
* हिंदु (Hindus) : 1,033,080,000
* बौद्घ (Buddhists) : 487,540,000
* फॉल्क रिलिजंस (Folk Religionists) : 405,120,000
* अन्य रिलजन (Other Religions) : 58,110,000
* यहूदी (Jews) : 13,850,000

इस तरह विश्व की आबादी में इन आठ विकल्पों को बांटकर देखें तो हर सौ व्यक्तियों में से 31 ईसार्इ, 23 मुस्लमान, 16 बिन धर्म संबद्घ, 14 हिंदु, 7 बौद्घ, 6 फॉल्क धर्मी, और शेष 2 अन्य लोग बैठेंगे। यहां आप अब देखें हमारी आजादी से पहले के आंकडे़ जब इंडिया में …

15 अगस्त 1947 को विभाजन कर भारत दो हिस्सों में बांट दिया गया। 14 अगस्त को पाकिस्तान नामक नया देश बना तथा 15 को अंग्रेजों ने इंडिया को छोड़ा। हिंदु, सिखों सहित बाकी सारे धर्म इंडिया में और मुस्लिम आबादी पाकिस्तान में बसार्इ जानी थी। कुछ इस्लामी उग्रवादियों और अंग्रेजों द्वारा रची साजिश से इस जद्दोजहद में दंगे छिड़ गए। मारकाट में लाखों की मौत। इस दौरान भारत में मुस्लिमों की संख्या साढे़ तीन करोड़ और पाकिस्तान में हिंदुओं की 2.75 करोड़ रह गर्इ। इसके बाद शुरू हुआ सपनों का भारत बनाने का सफर। वहीं पाक में इंडिया को नीचा दिखाने, कश्मीर को हडपने व शेष बचे अल्पसंख्यकों को तडपाने का खेल शुरू हुआ, जिसने बाद में आतंक को जन्म दिया। दोनों देशों में मत के वर्तमान आंकडे़…

17 दिसंबर, 2014 के दिन शाम 6: 20 तक भारत में कुल जनसंख्या : 1,27,45,32,040*
इसी वक्त पाकिस्तान में कुल जनसंख्या : 186,534,210
– हिंदुस्तान में मुस्लिम हैं 19.5 करोड़, जबकि 66 साल पहले पौने तीन करोड़ हिंदुओं की स्थली रहे पाकिस्तान में अब मात्र डेढ़ प्रतिशत हिंदु रह गए हैं। वहां संख्या का दावा तो स्पष्ठ नहीं है लेकिन माना जाता है कि बीस लाख अल्पसंख्यक हैं। बांग्लादेश की कुल आबादी 16 करोड़ है, जबकि उसमें हिंदु 1 करोड़ बताए जाते हैं। ……….जनसंख्यीय आंकडे़ लाइव हैं*HTTP://WORLD OMETERS.INFO/world-population/ विस्तार से आगे पढने के लिए क्लिक करें…HINDUISM

Categories: 》जीवन दर्शन | Tags: | Leave a comment

TOP 10 : ये हैं दुनिया के सबसे ऊंचे हिंदु मंदिर, हमारे ब्रज में बन रहा इनमें से भी एक

TOP 10 : ये हैं दुनिया के सबसे ऊंचे हिंदु मंदिर, हमारे ब्रज में बन रहा इनमें से एकविश्व में मंदिर स्थलों की बात हो तो इनकी सबसे ज्यादा संख्या हिंदुस्तान में है। यहां न केवल हजारों साल पुराने दिव्यवशेष हैं, बल्कि आधुनिक कला से सजे-धजे देवालय भी बहुत हैं। पिछले डेढ़ साल से वृंदावन में बनने जा रहे कृष्ण मंदिर को दुनिया में एक माना गया है। ढांचा इतना विशाल तय किया है कि ताजमहल जैसा आश्चर्य ब्रज में दूसरा खड़ा होगा। इसकी ऊंचार्इ 210 मीटर से भी अधिक होगी।
हालांकि भारत में कर्इ मंदिर 200 फीट से अधिक ऊंचे हैं, लेकिन विदेशों में स्थापित अमेजिंग हिंदु टेम्पल्स आज भी वहां के लोगों के लिए आस्था का प्रतीक हैं। आइए दर्शन कर निहारें, गगन छूते दुनिया में 10 मंदिर :

1. मुरुदेश्वर मंदिर
सबसे अधिक ऊंचार्इ पर स्थित इस मंदिर में दुनिया की दूसरी सबसे ऊंची प्रतिमा विराजमान है। भगवान शिव का यह मंदिर कर्नाटक राज्य के कन्नड़ जिले में पड़ता है। कहा जाता है कि त्रेतायुग में राक्षसराज रावण जब अमर होने की लालसा में शिवलिंग लिए लंका जा रहा था तो यहां रूका। थकावट दूर करने के लिए जैसे ही शिवलिंग को रावण ने जमीन पर रखा, वह तुरंत वहां स्थापित हो गया। उसके बाद रावण की लाख कोशिशों के बाद भी वह आत्मलिंग टस से मस नहीं हुआ। बाद में जगह ने इस धर्मस्थल का रूप ले लिया।
मुरूदेश्वर मंदिर की ऊंचार्इ 237.5 फुट है, जबकि प्रतिमा 40 मीटर ऊंची है। कर्नाटक में यह सागरतट इतना सुंदर है कि यहां दूर-दूर के तीर्थयात्री काफी समय विश्राम में गुजारते हैं। उनके लिए एक ओर जहां भगवान शिव की आस्था अर्जित होती है, वहीं प्राकृतिक सौंदर्यता भी बेहद सुकूनमय है।

बाकी नौ और मंदिरों के बारे में जानने के लिए छुएं सभी चित्र, अंदर स्लाइड़्स में देखें……..

 hindu temples in india

Categories: 》TOP 10 | Tags: , , | Leave a comment

OMG : समंदर किनारे तनाह पर बसा स्वर्ग, ये हैं दुनिया में दस मंदिर कमाल के

10 Amazing Hindu Templesहमारा धर्म दुनिया के सबसे पुराने धर्मों में से एक है, और दुनिया भर में 900 मिलियन से अधिक अनुयायी हैं। ये सबसे अधिक हिंदुस्तान में ही हैं, हालांकि नेपाल, बांग्लादेश और इंडोनेशिया में भी मूल संख्या में रहते हैं। इंडोनेशिया सबसे अधिक मुस्लम आबादी वाला देश है, लेकिन यहां हिंदुत्व का हेरिटेज पर्याप्त है। लगभग 2000 साल पहले भारत में मंदिर निर्माण शुरू हुए, जब वैदिक से हिंदू धर्म का विस्तार होने लगा। हिंदू मंदिरों की वास्तुकला शैलियां समय के अनुसार महान व विविधता में विकसित होती गर्इ, जिसके परिणाम स्वरूप जावा, कम्बोडिया, श्याम आदि देशों में मंदिर स्थापित हुए। चूंकि इंसान की प्राथमिकता देवता को समर्पित है और पवित्र छवि की सुविधा मंदिर होती है। मंदिर में हिंदुओं का नियमित रूप से आना ही केवल अनिवार्य नहीं है, बल्कि वे हिन्दू समाज और संस्कृति में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसलिए Vijayrampatrika-com बताने जा रहा है प्राचीन वास्तुकला में ढाले गए दुनिया के 10 शानदार मंदिरों के बारे में। देखने में न केवल मलूक हैं बल्कि अनोखे भी…. 1. तनाह लोत यह इंडोनेशिया में बाली के सबसे महत्वपूर्ण समुद्री मंदिरों में से एक है। दक्षिण-पश्चिमी तट से news for Temples, Amazing braj bhoomi (1. तनाह लोत -एक विशाल चट्टान पर स्थित, तनाह लोत बाली में सबसे प्रसिद्ध हिंदू मंदिरों में से एक है, और शायद सबसे अधिक फोटो खिंचवाने में भी. यह हिंदु मंदिर सदियों से बाली में पौराणिक कथाओं का एक हिस्सा रहा है। बाली के दक्षिण-पश्चिमी तट के साथ एक श्रृंखला में खडे़ 7 समुद्र किनारे के मंदिरों में यह अंदर है। बाली इंडोनेशिया का एक बडा़ द्वीप है।)थोड़ी दूर एक विशाल चट्टान पर बना मंदिर ही तो है लेकिन सूर्यास्त के समय इस मंदिर की जो आभा होती है, उसे सैलानी अभूतपूर्व कहते हैं। भूवैज्ञानी कहते हैं कि हजारों सालों में समुद्री पानी के ज्वार में क्षरण होने से यह द्वीप बना। इस चत्रन पर यह मंदिर 15वीं या 16वीं सदी में बना। यह मंदिर समुद्र के देवताओं को समर्पित है। बाली के तट पर बने सात मंदिरों में यह एक है। एक श्रृंखला की कड़ी के रूप में हर मंदिर से दूसरा मंदिर दिखता है। मंदिर हिंदू मिथकों से काफी प्रभावित है। यह सैलानियों के लिए फेमस है। प्लटवाइस लेक नेशनल पार्क क्रोएशिया का यह सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। मंदिर व यह स्थान 1979 में यूनेस्को की विश्व विरासत सूची में शामिल किया गया था। यह अकल्पनीय रूप से खूबसूरत है। इस नेशनल पार्क में 16 झीलें हैं जो झरनों व प्रपातों की कतारों से एक-दूसरे से जुड़ी हैं। यह इलाका ऐसे जंगल में है जिसमें हिरण, भालू व भेडि़ये और दुर्लभ पक्षी मौजूद हैं। पार्क का समूचा इलाका 300 वर्ग किलोमीटर का है और ये 16 झीलें आठ किलोमीटर की दूरी में फैली हैं। इन झीलों में सबसे ऊंची समुद्र तल से 1280 मीटर की ऊंचाई पर है और सबसे निचली 380 किलोमीटर पर। इन्हें जोड़ने वाले झरनों में सबसे ऊंचा 70 मीटर है। इस पार्क की सैर एक अविस्मरणीय अनुभव है। दुनिया के अनोखे और 9 मंदिरों के बारे में जानने के लिए चलिए गैलरी में। पिक्स छुएं और स्लाइड्स में निहारें भीतर…..

News- hindu temples around the world, pix - 10 hindu temples architecture, hindu temples information and famous hindu temples on Vijayrampatrika

Categories: OMG | Tags: , | Leave a comment

गर्व की बात- सौ साल पुराना हिंदू मंदिर सिंगापुर में 67वां राष्ट्रीय स्मारक घोषित

Sri Thendayuthapani Templeसिंगापुर में 155 बरस पुराने हिंदू मंदिर को हाल ही में राष्ट्रीय स्मारक घोषित कर दिया गया है। हिंदुस्तानियों के लिए गर्व का विषय बने इस मंदिर का नाम है श्री तेंदेयूतपानी। इसी के साथ यह मंदिर इस सूची में शामिल किया जाना वाला मुल्क का तीसरा हिंदू मंदिर बन गया है। इस मंदिर का निर्माण नट्टूकोट्टई चेट्टियारों ने सन 1859 में कराया था। इस मंदिर को सिंगापुर के राष्ट्रीय विरासत बोर्ड (एनएचबी) ने राष्ट्रीय स्मारक के रूप में गजट में शामिल किया।

इटरनेट वर्ल्ड की खबरों के मुताबिक एनएचबी बोर्ड ने कहा कि श्री तेंदेयूतपानी मंदिर सामाजिक, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और वास्तुकला के लिहाज से खासा अहम है। चैट्टियार आधुनिक बैंकिंग के अग्रदूत माने जाते हैं। चेट्टियार जब 1800 के शुरू में जब पहले पहल सिंगापुर पहुंचे तो उनकी आर्थिक और धार्मिक गतिविधियां इस मंदिर के आसपास ही केंद्रित रहीं। चेट्टियर दरअसल व्यापारी, मर्चेंट बैंकर और साहूकार थे।

श्री तेंदेयूतपानी मंदिर सबसे पहले 1859 में बनाया गया था। 1980 के शुरू में इस मंदिर को फिर से बनाने का काम शुरू हुआ और यह 1983 में बनकर तैयार हुआ। तब इस मंदिर का अभिषेक भी किया गया। हर 12 बरस बाद मंदिरों के नवीकरण की परंपरा के मुताबिक इस मंदिर के नवीनतम जीर्णोद्धार के बाद 27 नवंबर, 2009 को हुआ और इसका फिर अभिषेक हुआ। यह हिंदू मंदिर तीन देवताओं – मुरुगन, सुब्रमण्यम और श्री तेंदेयूतपानी को समर्पित है। अब क्लिक करें यहां कुछ फोटोज, स्लाइड़्स में जानिए और क्या खास है इस मंदिर में, सिंगापुर क्यों जुडा है हमारी परंपराओं से, कैसे है एशिया की नं 1 अर्थव्यवस्था……..

Categories: 》दुनियां 360° | Tags: , | Leave a comment

Blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: