ये हैं कहर बरपाने वाले टॉप-10 लड़ाकू विमान, जानिए भारत के पास कौन से

Top 10 5th generation fighter jets of the worldदुनियां 360° Desk: आसमान से जमीन पर दुश्मन के ठिकाने तहस-नहस करने के लिए दुनियाभर की वायुसेना कर्इ तरह के फाइटर जेट्स इस्तेमाल करती हैं। प्रथम विश्व युद्घ के बाद जब जमीन से जमीन पर मार करने की जरूरत पूरी हुर्इं तो ब्रिटेन-जर्मनी जैसे देशों ने हवार्इ हमले से शत्रुसीमा में पैठ बनानी शुरू कर दी। लिहाजा द्वितीय विश्व युद्घ के दौरान विध्वंसक जहाजों से भारी तबाही मची। जापान के मजबूत नौसैनिक बेडे़ के जवाब में अमेरिका ने तो बमवर्षक विमान बनाने की बाढ़ सी लगा दी, इसी क्रम में शक्ति संतुलन बनाए रखने की कोशिश सोवियत संघ (रूस) ने की। आज विश्व में एक से बढ़कर एक फाइटर जेट हैं, जो पलभर में हजारों किलोमीटर दूर दुश्मन पर बमबारी कर सकते हैं, मिसाइलें दाग सकते हैं।

साल 2015 से 2020 तक महाशक्तियों के बेडे़ में फिफ्त जेनरेशन के फाइटर जेट्स का दौर बताया जा रहा है। चीन और पाक की बॉन्डिंग को देखते हुए भारत ने भी पांचवी पीढी़ के विमान विकसित करने के लिए रूस से समझौता किया है। ऐसे में मॉडर्न तकनीक से लैस वर्ल्ड के 10 सबसे खतरनाक जेट्स को आज़ Vijayrampatrika.com पर जानें….

1. F-35 Lightning II (F-35 Joint Strike Fighter)
World's best fighter jetsसबसे खतरनाक और राडार की पकड में न आने वाला यह लड़ाकू विमान लॉकहीड मार्टिन ने बनाया है। इस विमान का न केवल डिजायन दुनिया के बाकी फाइटर्स से अलग है, बल्कि बैटल फील्ड में करतब दिखाने की कलाएं भी हटकर हैं। यह 1,930 किमी प्रति घंटे की स्पीड से उड़ान भरता है जबकि रेंज 2,220 किमी तक है। 16 मीटर लंबे इस जेट् के विंगस्पिन 11 मीटर के हैं। कर्इ देशों में यूएस नेवी के ऑपरेशन के दौरान इसके जौहर दिख चुके हैं।
अमेरिका सेना का दावा है कि इसे एंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइल से नहीं मार गिराया जा सकता और न ही एयर वॉर्निंग कंट्रोल सिस्टम से इसकी सटीक लोकेशन का पता लगाया जा सकता है। हालांकि यह सिंगल इंजन वाला है और अभी यूएस एयरफोर्स में ही तैनात हैं।

दिए गए फोटोज़ छुएं और अंदर स्लाइड्स में पढें ऐसे ही अन्य लड़ाकू विमानों के बारे में, ये भी जानें कि भारत के पास कौन-कौन से हैं………
यह भी पढें: दुनिया की 10 सबसे बडी़ वायुसेनाएं, जानें भारत की परर्फोमेंस
ये हैं दुनिया की सबसे घातक 10 मिसाइलें, मिनटों में भेदी देंगी अपना लक्ष्य
इन 7 देशों के पास है एटमिक पावर, जो मचा सकते हैं दुनिया में तबाही

Advertisements
Categories: 》TOP 10 | Tags: | Leave a comment

श्री गणेश का सिर कटने के पीछे ये शाप था कारण, सूर्य को मारा था त्रिशूल

bal ganeshब्रह्मवैवर्तपुराण के अनुसार शनि देव शिवजी और पार्वती को पुत्र प्राप्ति की खबर सुनकर उनके घर आए। वहां उन्होंने पूरे समय अपना मुंह नीचे की ओर झुकाया हुआ था। यह देख पार्वती जी ने उनसे कहा कि आप मेरी या मेरे बालक की तरफ देख क्यों नहीं रहे हो? मैं इसका कारण जानना चाहती हूं। यह सुनकर शनिदेव बोले माता मैं आपके सामने कुछ कहने लायक नहीं हूं, लेकिन ये सब कर्मों के कारण है। मैं बचपन से ही श्रीकृष्ण का भक्त था।

मेरे पिता चित्ररथ ने मेरा विवाह कर दिया वह सती-साध्वी नारी बहुत तेजस्विनी हमेशा तपस्या में लीन रहने वाली थी। एक दिन वह ऋतुस्नान के बाद मेरे पास आई। उस समय मैं ध्यान कर रहा था। मुझे ब्रह्मज्ञान नहीं था। उसने अपना ऋतुकाल असफल जानकर मुझे शाप दे दिया। तुम अब जिसकी तरफ दृष्टि करोगे वह नष्ट हो जाएगा। इसलिए मैं हिंसा और अनिष्ट के डर से आपके और बालक की तरफ नही देख रहा हूं।

यह सुनकर माता पार्वती के मन में कौतूहल हुआ, उन्होंने शनिदेव से कहा कि आप मेरे बालक की तरफ देखिए। वैसे भी कर्मफल के भोग को कौन बदल सकता है। तब शनि ने बालक के सुंदर मुख की तरफ देखा और बालक का मस्तक उसके शरीर से अलग हो गया।

माता पार्वती विलाप करने लगी। यह देखकर वहां उपस्थित सभी देवता, देवियां, गंधर्व और शिव आश्चर्यचकित रह गए। देवताओं की प्रार्थना पर श्रीहरि गरुड़ पर सवार होकर उत्तर दिशा की और गए और वहां से एक हाथी का सिर लेकर आए। सिर बालक के धड़ पर रखकर उसे जोड़ दिया। तब से भगवान गणेश का सिर हाथी रूपी हो गया। अब 4 चित्रों पर क्लिक कर अंदर स्लाइड में पढ़ें क्या कहता है शिवपुराण, क्यों लगा गणेशजी को हाथी का सिर…….

Categories: 》जीवन दर्शन | Tags: | Leave a comment

Blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: