Posts Tagged With: Snake

क्या आपने कभी दो मुंह वाले अजगर को देखा है? नहीं तो आएं इधर

photos of two-headed snake》दुनियां 360° Desk: क्या आपने कभी दो मुंह वाले अजगर को देखा है? शायद नहीं देखा हो तो बता दें कि अमेरिका के कंसास में ऐसा ही एक दोमुंहा पाइथन पैदा हुआ है। हाल ही में अमेरिका के विचिता सिटी के रहने वाले एक फोटोग्राफर ने इसके फोटो खींचे, लेकिन इस दौरान वह बाल-बाल बचे।

Vijayrampatrika.com आपको दुनियाभर के जीवों से जुडी़ रोचक जानकारी देता रहा है। फिर चाहे वे अनदेखे हों या अजीबो-गरीब। यहां समय-समय पर अपडेट्स मिलते रहते हैं। पिछली बार दोमुंहा किंग कोबरा आपने देखा था, इस बार देखें ये दो मुंह वाला अजगर…

बहुत गुस्से में था वह, फोटोग्राफर की ओर ऐसे झपटा
Two Headed Snakes – Strange Creatures
यूएस फोटोग्राफर जैसन टालबोट्ट ने मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से बताया कि इससे पहले सिर्फ दोमुंहे जीवों की उसने बातें सुनी थी। तब लगता था कि ऐसे जीव रियल लाइफ में नहीं होते हैं, ये सिर्फ झूठी बातें होती हैं। हालांकि, जब मैंने इसे देखा तो मेरा माइंड गुमक गया। विचार ही नहीं, वाकई में ये लाजवाब था। जैसन ने कहा कि मैं भाग्यशाली हूं, जो उस भयावह पाइथन के फोटो इतने करीब से क्लिक कर सका। वह फुंफकार मार रहा था, जी हां काफी गुस्से में प्रतीत हो रहा था।

 Two-headed snake (Cobra) found in China ( -See at Vijayrampatrika.com )एक मुंह शांत था
जैसन के मुताबिक, फोटो क्लिक करने के दौरान पाइथन का एक मुंह बार-बार अटैक की कोशिश कर रहा था, जबकि दूसरा मुंह उसे सपोर्ट नहीं कर रहा था। वैसे, इस तरह के सांपों का जिंदा बच पाना मुश्किल होता है, लेकिन वो कई दिनों बाद भी जिंदा है। वह कई बार कैमरे के लेंस पर देख रहा थाटालबोट्ट ने अलग-अलग एंगल से उसकी कर्इ तस्वीरें खींची, जो सोशल मीडिया में कर्इ लाख हिट्स पा चुकी हैं।

यदि आप सांपों की दुनिया को बेहतरीन तरीके से समझना चाहते हैं तो इन लिंक्स पर क्लिक करें……..
कहीं देखा है चार जीभों वाला सांप, रूह कांप जाएगी
ये हैं दुनिया के 10 सबसे खतरनाक सांप, 1 फुंकार है जान लेने को काफी
इस किंग कोबरा के बच्चे के हैं दो मुंह, चीन में आया पहली बार नजर
बहुत खतरनाक है ये सांप, हवा में उडकर करता है शिकार, देखें वीडियो
भारत के ये हैं 11 सबसे जहरीले सांप, कहीं भी दिखें आप दूर रहना इनसे… !

Advertisements
Categories: 》GALLERY | Tags: | Leave a comment

Create a free website or blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: