Mehrangarh Fort, Rajasthan | Vijayrampatrika.com -1

Mehrangarh Fort : Jewel of Jodhpur

2. सती मंदिर से याद आते हैं आत्मदाह: 1843 में महाराजा मान सिंह के निधन के बाद उनकी पत्नी ने चिता पर बैठकर जान दे दी थी। उसी की स्मृति में एक भव्य मंदिर बनाया गया। किले के परिसर में सती माता का मंदिर स्थित है। मेहरानगढ़ फोर्ट में रानियों के आत्मदाह के निशान भी मौजूद हैं। अंतिम संस्कार स्थल पर आज भी सिंदूर के घोल और चांदी की पतली वरक से बने हथेलियों के निशान पर्यटकों को उन राजकुमारियों और रानियों की याद दिलाते हैं जिन्होंने अपने पतियों के लिए जौहर या आत्मदाह किया था। आगे की स्लाइड्स में देखें- किले के अंदर कई भव्य महल…

Advertisements

The museum in the Mehrangarh fort is one of the most well-stocked museums in Rajasthan. ..-www.vijayrampatrika.wordpress.com/?p=11911

Call or paste your point here.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.