एटमिक टेस्ट रोकने नॉर्थ कोरिया ने अमरीका – सिओल को पीछे हटने को कहा

यूएस-सिओल के बीच वार्षिक युद्धाभ्यास रुके तो एटमिक टेस्ट नहीं करेंगे: नॉर्थ कोरियासिओल. दो हफ्ते पहले हाइड्रोजन बम का टेस्ट कर दुनिया को चौंका देने वाले नॉर्थ कोरिया ने अब अपने परमाणु परीक्षणों को बंद करने को सहमति दी है, लेकिन इसके बदले उसने अमरीका व सिओल के बीच होने वाले सैन्य अभ्यास और समझौतों को रोकने की मांग की है।

शुक्रवार देर रात यहां स्टेट मीडिया ने इस बयान की जानकारी दी, जो कि नॉर्थ कोरिया के पुराने प्रस्तावों का ही दोहराव है। इन प्रस्तावों को अमेरिका पहले ही ठुकरा चुका है इस शर्त के साथ कि प्योंगयांग को एटमिक गतिविधियां पूरी तरह बंद करनी होंगी। लेकिन नॉर्थ कोरिया इसके लिए कभी तैयार नहीं हुआ। उधर अमरीका, साउथ कोरिया सहित कई पश्चिमी देशों का मानना है कि प्योंगयांग के ये कदम उनके लिए खतरा हैं। इसलिए बीते एक दशक मे प्योंगयांग पर प्रतिबंधों की झड़ी लगा दी। बावजूद इसके नॉर्थ कोरिया ने अपने हितों का हवाला देते हुए परमाणु कार्यक्रम जारी रखे। २००६ व २०१२ में अमरीकी सैटेलाइट़्स ने नॉर्थ कोरियाई रॉकेट परीक्षणों की तस्वीरें जारी की थीं।

न्यायसंगत था हमारा बम टेस्ट: प्योंगयांग
नॉर्थ कोरिया की फॉरेन मिनिस्ट्री से जुड़े एक स्पीकर ने ६ जनवरी को किए कथित हीलियम बम टेस्ट को सही ठहरात हुए कहा कि  यह देश के बचाव करने और ताकत का अहसास कराने के लिए किया गया। प्रवक् ने कहा कि यह बाहरी खतरों खासकर अमरीका-सिओल से निपटने के लिए आवश्यक कदम था। आधिकारिक कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने फॉरेन मिनिस्ट्री के बयान को जारी करते हुए साउथ कोरिया के दुष्प्रचार किए जाने को बेहद निंदनीय बताया। गौरतलब है कि तनावपूर्ण सीमा पर साउथ कोरिया ने प्योंगयांग के खिलाफ लाउडस्पीकर से दुष्प्रचार शुरू करने का निर्णय लिया था।

‘पहले अमरीका-सियोल हटें पीछे’
परमाणु कार्यक्रमों को रोकने के  एवज में नॉर्थ कोरिया ने कहा, ‘पहले यूएस और उसके सहयोगी साउथ कोरिया को सैन्य उपकरण देने व युद्धाभ्यास करने से बाज आएं। वो लगातार हमारी संप्रभुता को नुकसान पहुंचा रहे हैं और सिओल उकसावे की धमकियां मिल रही हैं। यदि प्योंगयांग के खिलाफ कार्रवाई का प्लान बना तो जवाब में हम मिलिट्री एक्शन और एटमिक अटैक करने से पीछे नहीं हटेंगे। साथ ही नॉर्थ कोरिया ने वैश्विक शांति को कोई ठेस न पहुंचाने की बात कही कि हमसे दुनिया को नहीं बल्कि अमरीका को खतरा हो सकता है।

झेलने होंगे और प्रतिबंध: अमरीका
वहीं नॉर्थ कोरिया के टेस्ट के बाद अमरीका ने प्योंगयांग को यूएन के हवाले से और प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दी। हाल ही यूएन ने दुनिया में बढ़ रही एटमिक गतिविधियों पर चिंता जताई, लेकिन प्योंगयांग ने इसे न्यायसंगत से बताया। वहीं दक्षिण कोरिया ने शुक्रवार को चीन द्वारा यूएन में नॉर्थ कोरिया पर समझौते की बात कही। यह भी पढें.. किम की इस न्यूज एंकर ने बताया दुनिया को हाइड्रोजन बम के टेस्ट के बारे में !

Advertisements
Categories: 》धडा़धड़ खबरें | Tags: | Leave a comment

Post navigation

Call or paste your point here.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: