यहां राधा ने कृष्ण को स्पर्श करने से किया था मना, अपने कंगन से बना दिया था कुंड

Radha Kunda - Sacred bathing place of Sri Radharani》हमारौ ब्रज Desk: शरीर यदि कृष्ण है तो राधा आत्मा है। राधा ही एक मात्र ऐसा नाम है, जो कृष्ण के पहले लिया जाता है। ये दो नाम दो नहीं एक है, इसलिए कहा जाता है श्रीराधे कृष्ण। जैसे परमात्मा का ही अंश आत्मा है। ठीक वैसा ही संबंध कृष्ण और राधा का है। जिस तरह परमात्मा के बिना आत्मा नहीं रह सकती है। वैसे ही कृष्ण के बिना राधा और राधा के बिना कृष्ण नहीं रह सकते हैं। कहते हैं श्रीकृष्ण और राधा रास किया करते थे। लोग इसका अर्थ लौकिक रूप से लगा लेते हैं, जबकि यह रास द्वैत और अद्वैत का मिलन है। जब दो आत्माएं एक रस हो जाए बस वही प्रेम है और वही रास भी। जिसमें जीवन के सारे रस समाहित हो फिर भी वह स्वार्थ से कौसों दूर हो बस वही प्रेम रास है।

राधा-कृष्ण से खूबसूरत प्रेम इस धरती पर किसी नहीं किया, क्योंकि आत्मा और परमात्मा के प्रेम से गहरा कोई प्रेम हो ही नहीं सकता है। राधा कृष्ण का प्रेम सिर्फ वही समझ सकता है जो ईश्वर के करीब हो। दरअसल इस संसार की हर वो आत्मा जो कृष्ण को पाने की चाह रखे और दिन भर उसके बारे में सोचे वह गोपी है, लेकिन जो आत्मा कृष्ण से एक रूप होकर अभिमान से दूर हो बस वही राधा है। जब ये स्थिति आती है तो फिर राधा-कृष्ण से दूर रह सके या न रह सके, लेकिन कृष्ण-राधा से दूर नहीं रह सकते।

इसी प्रेम को जीवंत रखे हैं ये दो कुंड
राधा कृष्ण की जोड़ी प्रेम का आदर्श है। इनके प्रेम से जुड़ी कई दंत कथाएं भी इसलिए आज भी प्रचलित हैं। ऐसी ही एक कथा है राधा के कृष्ण जी से नाराज होने की और राधाकुंड और कृष्ण कुंड के निर्माण की। इन कुंडों का निर्माण कृष्ण जी ने अपने पैर से व राधाजी ने अपने कंगन से किया था। इसलिए कुंड में स्नान करने से पाप धुल जाते हैं और संतान सुख मिलता है।

आइए ‘हमारौ ब्रज’ सीरीज के तहत, जानते हैं कहा स्थित हैं ये कुंड और क्या है इनके निर्माण की कथा। फोटोज छुंए और स्लाइड्स में पढें भीतर..

Advertisements
Categories: 》जीवन दर्शन | Tags: | Leave a comment

Post navigation

Call or paste your point here.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: