इस स्थान से चलता है रामायण काल के वैभव पता, आप कभी गए क्या?

 रामायणकालीन संस्कृति के लिए फेमस है कन्नौज शहर, यहां जानें इसके बारे में ..#Vijayrampatrika.com 》जीवन दर्शन Desk: भगवान श्रीराम को मर्यादा पुरषोत्तम कहा जाता है, सभी उनके जैसे राज की कल्पना करते हैं। आज राज और काज नीति बदल गर्इ हैं, लेकिन फिर भी राजनेता रामराज्य के वादे जनता से करते हैं। दुनिया के बडे़ राजनीतिज्ञों ने भी रामराज कामना करते रहे हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं, उनके राज की भव्यता का अनुमान कैसे लग सकता है? कैसा वैभवशाली रहा होगा वो युग, जब भगवऩ रहे आम इंसानों के बीच?

 यदि है जिज्ञासा, तो हम आपको ले चल रहे हैं उस स्थान तक, जहां से चलता है रामायण काल के वैभव का पता, याकि जहां रामायण काल से जुडे अवशेष मिलते हैं…..  महर्षि वाल्मीकि जन्मे थे जहां…..

कान्यकुब्ज, आज का कन्नौज
यूपी के 75 जिलों में से एक कान्यकुब्ज वह स्थान है, जहां महर्षि ऋचीक ने महाराज गाधि की कन्या से विवाह किया था। बदले में महाराज गाधि ने एक हजार घोड़े मांगें थे जो ऋषि ने वरुणदेव से कहकर यहीं प्रकट कर दिए थे। महाराज गाधि के पुत्र विश्वामित्र हुए और महर्षि ऋचीक के पुत्र जमदग्रि ऋषि हुए। परशुराम जी इन्हीं जमदग्रि ऋषि के पुत्र थे। कन्नौज को अश्वतीर्थ भी कहा जाता है।

महर्षि वाल्मीक की जन्मभूमि
कन्नौज पहले वैभवपूर्ण शहर था। गंगाजी इसके पास से बहती थी जो अब इससे 6 किलोमीटर दूर चली गईं हैं। अब तो यहां के वैभव के अवशेष ही बचे रह गए हैं। कन्नौज के पास ही वैला रुद्रपुर नामक गांव है। यहां वाल्मीकि ऋषि की जन्मभूमि है। कहते हैं सीता अपने द्वितीय वनवास में यहीं रहीं थीं। यहीं लव-कुश का जन्म हुआ था और यहीं वाल्मीकि रामायण की रचना हुई थी। वीर हनुमान, शत्रुघ्न और लव-कुश में यहा से थोडी दूर ही मुठभेंड हुर्इ थी।

दिए गए फोटो को छुएं और अंदर पढें कन्नौज में क्या-क्या हैं दर्शनीय, कैसे यहां पहुंचा जा सकता है…
रावण की ससुराल से जुडे मिथ जानने के लिए यहां क्लिक करें
देखें वो पर्वत, जिसकी बूंटी से बची लक्ष्मणजी की जान !
यहां आज भी भटक रहे हैं अश्वत्थामा, देखने वाले जीवित नहीं बचते !

Advertisements
Categories: 》जीवन दर्शन | Tags: | Leave a comment

Post navigation

Call or paste your point here.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: