खूबसूरत गढ़, कब – कैसे गया उजड़! ये कहते हैं भानगढ़ के भुतहे खण्डहर, झांकौ

Horror story of Bhangarh Fortकभी सुनहरा शहर रहा इंडिया का एक गढ आज भुतही जगहों में शामिल है। रात में लोग यहां नहीं रूकते, दिन में भी अकेले नहीं जाते …यह सुन कभी आपने भी सोचा है कि अरावली की गोद में मौजूद भानगढ़ के खंडहर भला क्यों इस तरह देखे जाते हैं। यहां निचोड है सपूरा, जरा गैलरी में चलते हैं –

सोलहवीं सदी, आज से करीब चार सौ साल पहले इस गढ़ की घुमावदार गलियों में दमकते बाजार, चमकती शान हुआ करती थी। करीने की मार्केट, सुंदर मंदिरों, भव्य महल, तवायफों के आलीशान कोठे पक्षियों की किलोल से चहचाया करते थे। घुंघरूओं की आवाज गूंजा करती थी, लेकिन अब शाम ढलते ही सन्नाटा पसर जाता है। हालांकि भानगढ में भूतों को किसी ने नहीं देखा। फिर भी इसकी गिनती देश के सबसे हॉन्टेड स्पॉट्स में की जाती है। किले के रातों रात खंडहर में तब्दील हो जाने के बारे में कई कहानियां हैं। एक-दो किस्सों का फायदा उठाकर कुछ मोडा़-बाबाजियों ने रैन्स को अपने कर्मकांड का चिट्ठा बना दिया है। खतरे में पडी ऐतिहासिक धरोहर को इस तरह रोकने वाला भी कोर्इ नहीं हैं।

– राजाओं की भूमि कहे जाने वाले राजस्थान के अलवर जनपद में सरिस्का नेशनल पार्क के एक छोर पर स्थित है भानगढ़। किले को आमेर के राजा भगवंत दास ने 1573 ई. में बनवाया था। उनके छोटे बेटे माधो सिंह ने बाद में अपनी रिहाइश बना लिया। माधोसिंह अकबर के रत्नों में शामिल मानसिंह के भार्इ थे। माधो सिंह के बाद उसका बेटा छतर सिंह भानगढ़ का राजा बना जिसकी 1630 में लड़ाई के मैदान में मौत हो गई। इसके साथ ही भानगढ़ की रौनक घटने लगी। छतर सिंह के बेटे अजब सिंह ने नजदीक में ही अजबगढ़ का किला बनवाया और वहीं रहने लगा। आमेर के राजा जयसिंह ने 1720 में भानगढ़ को जबरन अपने साम्राज्य में मिला लिया। अब आगे @ छुएं गैलरी के दस पिक्स, स्लाइड्स में पढें पूरी बात और किले से जुडे रोचक फैक्ट ……..

braj text0016

Advertisements
Categories: OMG | Tags: | Leave a comment

Post navigation

Call or paste your point here.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: