माता की पूजा में ऐसे करें खुश होकर व्रत, नौ दिन बाद निर्जला करेगा हष्ट-पुष्ट

Navratri festival 2014_001बहुप्रतीक्षित नवरात्रों में महा मां दुर्गा की पूजा आज से शुरू हो गर्इ है। इस दौरान श्रद्धालु 9 दिनों तक नवरात्र का व्रत रखते हैं। नवरात्र में लोग अपनी-अपनी श्रद्धा के अनुसार व्रत रखते हैं। कुछ लोग इन नौ दिनों में फलाहार करते हैं, तो बहुत से लोग केवल पानी पीकर ही नौ दिन व्रत रखते हैं। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी निर्जला व्रत रखते हैं। मगर इस वक्त कोर्इ दुख धारण किए हुए नहीं होना चाहिए, बॉडी के मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाए रखने के लिए उपवास रखना चाहिए, क्योंकि व्रत से बॉडी डीटॉक्सिफाय हो जाता है। लेकिन नौ दिन तक लगातार फास्ट रखने से सेहत पर असर भी पड़ सकता है। हम बता रहे हैं व्रत में सेहत के लिए किन खास बातों का ख्याल रखें, ताकि बीच में ही व्रत को कोई नुकसान नहीं पहुंचे….

वजन कम हो, तो न लें टेंशन
कुछ लोगों को नौ दिन के व्रत से बॉडी डीटॉक्सिफाय हो जाता है। पेट साफ हो जाता है और डायजेस्टिव सिस्टम भी ठीक से काम करता है। व्रत के दौरान ज्यादातर लोग फलों का सेवन करते हैं। हाई कैलोरी वाला खाना न लेने से वजन कम होने की पूरी संभावना होती है। लेकिन यह काफी फायदेमंद है। फल खाने से जरूरी विटामिन भी मिलते हैं और कोलेस्ट्रॉल भी कम होता है। रूटीन और कंट्रोल खान-पान से ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है।

Navratri festival 2014_004व्रत के दौरान ऐसी हो डाइट
एम्स की डायटिशियन अंजलि भोला ने बताया कि व्रत के दौरान एक प्रॉब्लम यह हो सकती है कि लंबे समय तक चलने वाले व्रतों में सिर्फ फलों और सब्जियों के सेवन से आपकी बॉडी को न्यूट्रिशन की जरूरी मात्रा नहीं मिल पाती है। यही नहीं, लोग कामकाज बंद कर केवल खाने-पीने पर ध्यान देने लगते हैं और इस वजह से कुछ लोगों का वजन बढ़ जाता है। इसलिए व्रत के दौरान डाइट कैसी हो, इसका ध्यान रखें। इसके लिए :

•ज्यादा तले-भुने खाने से परहेज करें। जैसे कुट्टू के आटे की पूरी के बजाय रोटी का सेवन करें। आलू के चिप्स की जगह उन्हें उबालकर खाएं।
•व्रत वाले चावल खा रहे हैं तो सब्जियां डालकर पुलाव बनाएं।
Navratri festival 2014_006•तलने की जगह माइक्रोवेव का इस्तेमाल कर कुछ बनाएं। ग्रिलिंग या भाप में पकाने की प्रक्रिया में भी तेल कम लगता है।
•व्रत में चार-पांच चीजें एक साथ खाने की जगह दो-तीन घंटे के अंतराल पर खाएं।
•ताजे फलों और ड्राई फ्रूट्स का सेवन करें।
•डबल टोंड दूध पीएं, इसमें फैट नहीं होता। कैल्शियम-प्रोटीन प्रर्याप्त मात्रा में मिलता रहता है।
•ज्यादा देर तक भूखे न रहें, इससे आपको पेट में गैस की समस्या हो सकती है।

मां अपने बच्चे को अक्षम नहीं देखना चाहती। इसलिए पूरे नौ दिन के व्रत रखने से बचें, अगर…
•डायबिटीज और हाइपरटेंशन के मरीज हों तो
•अगर हाल-फिलहाल में आपकी कोई सर्जरी हुई हो
•अगर खून की कमी है तो व्रत नहीं रखें
•हार्ट, किडनी, फेफड़े या लीवर के मरीज भी इससे बचें
•ब्लड शुगर के मरीज और गर्भवती महिलाएं व्रत नहीं रखें

• वे पेड़ लगाए, पौधों को पानी दें।

Advertisements
Categories: 》जीवन दर्शन | Tags: | Leave a comment

Post navigation

Call or paste your point here.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

%d bloggers like this: